26-07-2017
12:46 pm
=

CRYPTOCURRENCY ANALYSIS

LATEST NEWS

भारत में बिटकॉइन आधारित प्रेषण का बड़ा क्षमता

कॉइनसिक्योर

भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है जिसका आबादी चीन के पीछे दूसरा स्थान पर है। भारत देश का सकल घरेलू उत्पाद $2 ट्रिलियन है। बिटकॉइन और क्रिप्टोकरेंसी के मामले में भारत के जनसंख्या अब तक पूरी तरह से परिचित नहीं है।

विश्व का सबसे उच्च प्रशिक्षित तकनीकी कार्य बल भारत में मौजूद है और यहाँ ज्यादातर लोग इंटरनेट से जाने पहचाने है। Ericsson का एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत के निचले सामाजिक-आर्थिक तबके में मोबाइल फ़ोन और इंटरनेट का प्रयोग बढ़ता जा रहा है, जो देश का अधिवृद्धि के लिये महत्वपूर्ण है।

इस देश का अर्थव्यवस्था में विदेशी प्रेषण बहुत महत्व रखता है। साल 2014 में भारत का कुल विदेशी प्रेषण $70.4 बिलियन से ज़्यादा था , जो विश्वरथ पहला स्थान लेता है। विदेश में काम करने वाला भारत के नागरिक हर महीना अपने आमदनी के एक हिस्सा को वापस स्वदेश में रहने वाले अपने घरवालों को भेजते है।

अब तक लोग पैसे को विदेश से वापस भेजने के लिए बैंक ट्रान्सफर या वेस्टर्न यूनियन (Western Union) जैसा सेवाओं का इस्तेमाल करते आ रहे है । बिटकॉइन इन सब आवश्यकताओं को आसानी से पूरा कर सकता है। बिटकॉइन के ज़रिये किफायती विदेशी प्रेषण आसान और तेज़ है । दुनिया का किसी भी कोने से बिटकॉइन के ज़रिये किसी को मिनटों में पैसे भेजा जा सकता है। बिटकॉइन को विदेशी प्रेषण माध्यम के रूप में इस्तेमाल करने के लिए बस बिटकॉइन वॉलेट का आवश्यकता पड़ता है । पैसों को  के रूप में प्राप्त करने के बाद बिटकॉइन विनिमय मंच का इस्तेमाल करके बिटकॉइन भारतीय रुपयों में बदला जा सकता है।

भारत में 2-3 प्रसिद्ध बिटकॉइन विनिमय प्लेट फार्म उपलब्ध है। उन में से कॉइनसिक्योर (CoinSecure), उनोकॉइन (UnoCoin) और जेब-पे (ZebPay) का नाम उल्लेखनीय है। भारत में बिटकॉइन आधारित प्रेषण बड़ा क्षमता रखता है और भविष्य हम इसे और बढ़ता हुआ देख सकते है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER

Read previous post:
जेब-पे को मिला $1 मिलियन का निवेशन

ZebPay (जेब-पे), भारत का एक प्रमुख बिटकॉइन मोबाइल वॉलेट और विनिमय कंपनी ने सीरीज (Series A ) वित्त पोषण में...

Close