25-03-2017
09:40 am
=

क्रक्रप्टो-मद्रुा विश्लेषण

ताजा खबर

भारतीय बैंकों और कंपनियों पर रैंसमवेयर हमला, अपराधी मांगे बिटकॉइन फिरौती।




ransomware

बिटकॉइन सम्बन्धित साइबर-क्राइम (cybercrime) अब भारत में अपने सर दिखाया है। बिटकॉइन को अपराधियों का पसंदीदा मुद्रा या करेंसी माना जाता है। बिटकॉइन दूसरे करेंसी के तरह नहीं है, बिटकॉइन से संबंधित अनामिता लाभ उठाने की उद्देश्य में अपराधियों ज़्यादा तर इस डिजिटल करेंसी का उपयोग करते आ रहे है।

आज कल बैंकों और कंपनियों के कम्प्यूटरों और सेर्वेरों के ऊपर रैंसमवेयर (ransomware) हमले बढ़ता जा रहा है और इस बार यह हमला कुछ भारतीय बैंकों और दवा कंपनी के ऊपर किया गया है । अब तक कोई भी भारतीय कंपनी इस हमले का शिकार नहीं हुआ था । हाली के समाचार रिपोर्ट में इस रैंसमवेयर हमले का खबर Economic Times में उपलब्ध है। इस समाचार के अनुसार साइबर अपराधियों ने तीन भारतीय बैंकों और एक दवा कंपनी के कम्प्यूटरों को Le Chiffre नामक रैंसमवेयर से संक्रमित किया है। इस संक्रमण से कम्प्यूटरों में मौजूद सारे फ़ाइलें एन्क्रिप्शन के कारण निष्प्रयोजन हो गया है ।

Le Chiffre रैंसमवेयर ने कंप्यूटर में मौजूद फाइलो को 256 बिट पब्लिक की क्रिप्टोग्राफ़ी (256 bit public key cryptography ) के सहारे एन्क्रिप्ट करता है और इस को वापस डिक्रिप्ट करने के लिए उस पब्लिक की से संबंधित प्राइवेट की (private key) ज़रूरी है । इस प्राइवेट की रैंसमवेयर हमले करने वाले साइबर अपराधियों के पास होगा और उसे प्राप्त करने के लिए मांगे हुए फिरौती को देना पड़ेगा । समाचार सूत्रों के अनुसार एक संक्रमित कंप्यूटर के लिए यह साइबर अपराधी 1 बिटकॉइन का फिरौती का मांग प्रस्तुत किये है । इसी समाचार में यह भी पता चला है की रैंसमवेयर से प्रभावित दवा कंपनी ने कुछ हद तक अपराधियों का मांग पूरा किया है था की कंपनी के ऊंचे पद के कार्यकर्ताओं अपने कम्प्यूटरों का इस्तेमाल कर सके।

अब तक स्थिति का पूरा अद्यतन नहीं मिला है और हम नये सूत्रों का इंतज़ार में है । आगे की जानकारी मिलने के बाद हम इस समाचार को विस्तृत रूप में पेश करने का उम्मीद रखते है ।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER

Read previous post:
कॉइनसिक्योर
भारत में बिटकॉइन आधारित प्रेषण का बड़ा क्षमता

भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है जिसका आबादी चीन के पीछे दूसरा स्थान पर है। भारत देश का सकल...

Close