18-10-2017
09:52 pm
=

CRYPTOCURRENCY ANALYSIS

LATEST NEWS

बिटकॉइन भारत में जोखिम भरा व्यवसाय हो सकता है

एलिज़ाबेथ मेकौली

भारत की बिटकॉइन क्षेत्र पर लोगों का मिश्रित विचार रहा है । पिछले कुछ महीनों से भारतीय बिटकॉइन कंपनियाँ दुनिया भर प्रसिद्धि पा रहे है । अपने देश में बिटकॉइन क्षेत्र प्रारंभिक अवस्था में रहने के बावजूद यह कंपनियां नाम बन रहे है । कुछ दिन पहले Deal Street Asia नाम का एक ऑनलाइन पत्रिका ने GreenCoinX का संस्थापक – नीलम डॉक्टर का इंटरव्यू किया थ। इस इंटरव्यू में उन्होंने बिटकॉइन के बारे में और खुद का GreenCoinX क्रिप्टोकॉइन के बारे में विस्तार रूप से जानकारी दिया है।

नीलम डॉक्टर  के अनुसार, भारत में बिटकॉइन का बढ़ती सरकार की व्यवधान के ऊपर निर्भर है । शुरुआत में भारत का बिटकॉइन परिवेश अच्छा था। बहुत लोग बिटकॉइन कंपनी शुरु करने में लगे हुए थे , पर रिजर्व बैंक से चेतावनी मिले पर कई कंपनियाँ बंद हो गए । अब भारतीय बिटकॉइन समुदाय लग भाग 80000 लोगों से बना है जिस में 50000 लोग बिटकॉइन का मालिक है । वैसे भी पूरा भारत में बिटकॉइन का अभिग्रहण अब तक नहीं हुआ है, ज़्यादा से ज़्यादा बिटकॉइन उपयोगकर्ता मुंबई और बैंगलोर से है ।

इन  दोनों  शहरों में कई व्यापार बिटकॉइन स्वीकार करते है। बिटकॉइन के बारे में बहुत सामान्य ग़लतफ़हमी है , इस डिजिटल करेंसी को हवाला और काले धन को वैध बनाने का साधन माना जाता है। जब तक लोगों का राय नहीं बदलता, तब तक बिटकॉइन को सामूहिक अंगीकरण नहीं मिलेगा ।

सरकारी भागीदारी के बिना बिटकॉइन का विकास होना मुश्किल है । सरकारों को भी बिटकॉइन के बारे में उतना भरोसा नहीं है। अगर इस क्षेत्र में सरकारी भागीदारी बड़ा तो लोगों को बिटकॉइन और डिजिटल करेंसीयो  को लोग निश्चिंत हो कर अपनाएंगे । बिटकॉइन क्षेत्र में बहुत कुछ बदला है । भारतीय बिटकॉइन कंपनियाँ AML और KYC नियमों का पालन कर रहे है और उन के हर एक ग्राहक का बिटकॉइन लेन -देन संबंधित जानकारी का नियमानुसार संग्रहण और संरक्षण कर रहे है । इस तरह के व्यवस्था स्थापन करने से बिटकॉइन कंपनियां आगे की नई सरकारी नियमों का अनुपालन करने के लिए सिद्ध है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER

Read previous post:
कॉइनसिक्योर
भारतीय बिटकॉइन कंपनियों को मोबाइल होना चाहिए।

आज कल ज़्यादातर लोग अपने मोबाइल फ़ोन के ज़रिये इंटरनेट का इस्तेमाल करने लगे है । भारतीय इंटरनेट और मोबाइल...

Close